रिश्ता वही, सोच नयी

पहले लोग "बालकनी" में आने की राह देखते थे अब "On-line" आने की देखते हैं।
'रिश्ता वही, सोच नयी'

Share this: